ऑस्ट्रेलिया में हवाई सफर कब सबसे सस्ता होता है?

ऑस्ट्रेलिया कई लोगों के लिस्ट में सपनों की मंजिल है, अगर आप इस खूबसूरत देश की सैर पर कम खर्च में जाना चाहते हैं, तो यह लेख आपके लिए ही है। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि किन मौसमों में ऑस्ट्रेलिया की उड़ानें सबसे सस्ती होती हैं और अपने बजट के मुताबिक यात्रा की योजना बनाने में आपकी मदद करेंगे।

मौसम के हिसाब से उड़ान की कीमतें

ऑस्ट्रेलिया, उत्तरी गोलार्ध के विपरीत, दक्षिणी गोलार्ध में स्थित है। इसलिए यहां का मौसम हमारे यहां से उलट होता है। जब हमारे यहां गर्मी होती है, तो ऑस्ट्रेलिया में सर्दी पड़ती है और इसके विपरीत। इसका सीधा असर हवाई जहाज के टिकटों की कीमतों पर भी पड़ता है।

उच्च मौसम (पीक सीजन):

  • दिसंबर से फरवरी: क्रिसमस, न्यू ईयर और स्कूलों की छुट्टियों के कारण यह समय पर्यटकों से भरपूर होता है। नतीजतन, हवाई जहाज के टिकटों की कीमतें आसमान छू लेती हैं।
  • अप्रैल से सितंबर: ऑस्ट्रेलिया में वसंत और गर्मी का मौसम भी काफी लोकप्रिय है। खासकर दक्षिणी क्षेत्रों में मौसम सुहावना रहता है और कई शानदार त्यौहारों का आयोजन होता है। हालांकि, पर्यटकों की अधिकता के चलते इस समय भी टिकटें महंगी होती हैं।

कम मौसम (ऑफ-सीजन):

  • मई-जून: यह ऑस्ट्रेलिया में देर से शरद और सर्दी का मौसम होता है। खासकर उत्तरी और दक्षिणी क्षेत्रों में तापमान काफी कम हो जाता है। पर्यटक कम होने की वजह से हवाई जहाज के टिकट सबसे सस्ते मिलते हैं।
  • अगस्त-सितंबर: हालांकि अगस्त-सितंबर के अंत में गर्मी की शुरूआत हो जाती है, पर्यटकों की अभी भी कम संख्या रहती है। इसलिए टिकटों की कीमतें कुछ हद तक कम रहती हैं।

मौसम और मौसम के प्रभाव

ऑस्ट्रेलिया दक्षिणी गोलार्ध में स्थित है, इसलिए जब आप गर्मियों के मौसम का आनंद ले रहे हैं, तो ऑस्ट्रेलिया में सर्दी होती है। इसका मतलब है कि उनके मौसम के आधार पर हवाई किराये में काफी उतार-चढ़ाव होता है।

  • पीक सीजन: दिसंबर से फरवरी तक ऑस्ट्रेलिया में गर्मियों का मौसम होता है। यह पर्यटकों के लिए सबसे लोकप्रिय समय है, इसलिए हवाई किराया और आवास की कीमतें सबसे अधिक होती हैं।
  • शोल्डर सीजन: फरवरी-अप्रैल और सितंबर-दिसंबर के शुरुआत में मौसम सुहावना होता है, न तो बहुत गर्म न ही बहुत ठंडा। भीड़ कम होती है और हवाई किराया में भी थोड़ी कमी आती है।
  • लो सीजन: मई-जून और जुलाई के अंत से सितंबर के अंत तक कम मौसम होता है। तापमान ठंडा हो सकता है, खासकर दक्षिण में, लेकिन हवाई किराया सबसे कम होता है।

महीने के हिसाब से कीमतें:

  • सबसे सस्ता महीना: आमतौर पर मई या सितंबर में सबसे सस्ते हवाई किराये मिलते हैं।
  • सबसे महंगा महीना: दिसंबर और जनवरी में हवाई किराया सबसे अधिक होता है।

शोल्डर सीजन का लाभ उठाएं

फरवरी-अप्रैल और सितंबर-दिसंबर के शुरुआत में शोल्डर सीजन में आमतौर पर पर्यटकों की संख्या कम होती है और मौसम भी सुहावना रहता है। इसलिए इस समय टिकटों की कीमतें भी न तो बहुत अधिक होती हैं और न ही बहुत कम। अगर आप मौसम से समझौता कर सकते हैं और पर्यटकों से थोड़ी भीड़-भाड़ सहन कर सकते हैं, तो शोल्डर सीजन में ही उड़ानें बुक करना सबसे फायदेमंद साबित होता है।

अन्य कारक जो उड़ान की कीमतों को प्रभावित करते हैंः

  • आप कहां से रवाना हो रहे हैं: आप जिस शहर से उड़ान भर रहे हैं, उसके आधार पर भी टिकटों की कीमतें अलग-अलग हो सकती हैं। आमतौर पर बड़े शहरों से उड़ानें छोटे शहरों के मुकाबले महंगी होती हैं।
  • आप किस दिन और समय पर उड़ान भर रहे हैं: सप्ताहांत और छुट्टियों के दिनों में उड़ानें आमतौर पर सस्ती नहीं होती हैं। हफ्ते के बीच में और रात में उड़ानें लेने से आप अच्छा खासा पैसा बचा सकते हैं।
  • आप किस एयरलाइन से उड़ान भर रहे हैं: विभिन्न एयरलाइनों के टिकटों की कीमतें भी आपस में अलग-अलग हो सकती हैं। हमेशा कई एयरलाइनों के ऑफर की तुलना करें और अपने बजट के मुताबिक सबसे अच्छा विकल्प चुनें।

अगर आपका उद्देश्य ऑस्ट्रेलिया की यात्रा करना है तो आपको अपनी यात्रा की योजना को अच्छी तरह से बनाने और सस्ते हवाई टिकट खोजने के लिए विशेष ध्यान देना चाहिए। आप अलग-अलग ऑनलाइन या ऑफलाइन यात्रा एजेंटों से भी संपर्क कर सकते हैं जो आपको सस्ते और सही टिकट उपलब्ध करा सकते हैं।

ऑस्ट्रेलिया में हवाई यात्रा की लागत पर सबसे सस्ता महीना कई कारणों से अप्रैल से जून होता है। इस समय में पर्यटकों की संख्या कम होती है और वे अपनी यात्रा का आनंद लेते हैं। इसलिए, अगर आप ऑस्ट्रेलिया की यात्रा का आनंद लेना चाहते हैं और अपने बजट को कम करना चाहते हैं, तो यह समय बेहतर है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top