पेडे लोन बनाम पर्सनल लोन – में अंतर क्या है?

आपकी तनख्वाह आने में अभी कुछ दिन बाकी हैं, लेकिन अचानक कोई जरूरी खर्च आ गया है। ऐसी स्थिति में आप कहां से पैसे का इंतजाम करेंगे? ऐसे वक्त में कई लोगों को पर्सनल लोन या पेडे लोन (Payday Loan) लेने का ख्याल आता है। दोनों ही लोन जल्दी मिल जाते हैं, लेकिन क्या ये सचमुच एक जैसे हैं? इन दोनों में काफी अंतर होता है, जो आपके लिए सही है, ये जानना बहुत जरूरी है तो चलिए, आज हम आपको पर्सनल लोन और पेडे लोन के बारे में विस्तार से बताते हैं।

पर्सनल लोन और पेडे लोन में समानताएं

मान लीजिए, आपके घर में किसी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण की अचानक जरूरत पड़ गई है या फिर अचानक कोई मेडिकल इमरजेंसी आ गई है। ऐसी परिस्थिति में आपको जल्दी से पैसे की जरूरत होती है, पर्सनल लोन और पेडे लोन दोनों ही ऐसी परिस्थितियों में आपकी मदद कर सकते हैं। दोनों लोन के लिए आपको किसी भी तरह की गारंटी (Collateral) देने की जरूरत नहीं होती है, साथ ही दोनों ही लोन अपेक्षाकृत जल्दी मिल जाते हैं।

पेडे लोन और पर्सनल लोन में अंतर (Payday Loan vs Personal Loan)

सुविधापेडे लोन (Payday Loan)पर्सनल लोन
लोन की राशि₹2,000 से ₹1 लाख तक₹25,000 से ₹25 लाख तक*
लोन चुकाने की अवधिआमतौर पर आपकी अगली तनख्वाह आने तक (1 से 4 सप्ताह)1 से 5 साल तक की अवधि चुनी जा सकती है
ब्याज दरेंबहुत अधिक (लगभग 36% वार्षिक ब्याज दर (APR) तक जा सकती हैं)अपेक्षाकृत कम ब्याज दरें (10% से 25% APR के बीच)
प्रोसेसिंग फीसहो सकती हैहो सकती है, लेकिन आमतौर पर कम होती है
दस्तावेजकम दस्तावेजों की आवश्यकता होती हैआय प्रमाण, बैंक स्टेटमेंट आदि जैसे दस्तावेजों की आवश्यकता हो सकती है
क्रेडिट स्कोर की जांचआमतौर पर क्रेडिट स्कोर की जांच नहीं की जातीक्रेडिट स्कोर को ध्यान में रखा जाता है

*ध्यान दें: लोन की राशि और अवधि बैंक या वित्तीय संस्थान के अनुसार अलग-अलग हो सकती है।

उदाहरण से समझें: पेडे लोन बनाम पर्सनल लोन

मान लीजिए, आपको अपने मोबाइल फोन की स्क्रीन रिपेयर कराने के लिए ₹5,000 की जरूरत है। आपकी तनख्वाह अभी 10 दिन दूर है, इस स्थिति में:

  • पेडे लोन: आप ₹5,000 का पेडे लोन ले सकते हैं। इस पर लगने वाला ब्याज बहुत अधिक हो सकता है, उदाहरण के लिए, ₹500 तक तो आपको कुल मिलाकर ₹5,500 चुकाने होंगे।
  • पर्सनल लोन: आप ₹5,000 का पर्सनल लोन ले सकते हैं। ब्याज दर कम होने के कारण आपको 10 दिन के लिए ब्याज बहुत कम देना होगा, शायद ₹200 से ₹300 के बीच। तो कुल मिलाकर आपको ₹5,200 से ₹5,300 चुकाने होंगे।

जैसा कि आप देख सकते हैं, पेडे लोन पर लगने वाला ब्याज बहुत अधिक होता है, जबकि पर्सनल लोन पर लगने वाला ब्याज काफी कम होता है।

कब चुनें पेडे लोन?

पेडे लोन बहुत ही कम अवधि के लिए और बहुत ही कम राशि के लिए ही लेना चाहिए। पेडे लोन का इस्तेमाल तभी करें, जब वाकई में कोई बहुत जरूरी खर्च हो और आपके पास उसे टालने का कोई विकल्प न बचा हो।

यहां कुछ ऐसे उदाहरण दिए गए हैं, जिनमें आप पेडे लोन लेने पर विचार कर सकते हैं:

  • महत्वपूर्ण चिकित्सा खर्च: यदि आपको किसी अचानक बीमारी या चोट का सामना करना पड़ा है और आपके पास तुरंत पैसे की आवश्यकता है, तो आप पेडे लोन ले सकते हैं।
  • घरेलू आपातकालीन: यदि आपके घर में कोई आपातकालीन स्थिति है, जैसे कि पाइपलाइन फटना या बिजली का काम, तो आप पेडे लोन ले सकते हैं।
  • किराया या बिलों का भुगतान: यदि आपके पास किराया या बिलों का भुगतान करने के लिए पर्याप्त पैसे नहीं हैं, तो आप पेडे लोन ले सकते हैं।

हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि पेडे लोन महंगे हो सकते हैं इन पर लगने वाला ब्याज बहुत अधिक होता है। यदि आप समय पर लोन चुकाने में असमर्थ रहते हैं, तो आपको भारी जुर्माना भी देना पड़ सकता है।

इसलिए, पेडे लोन लेने से पहले, आपको अपनी वित्तीय स्थिति का ध्यानपूर्वक मूल्यांकन करना चाहिए। यदि आपके पास ऋण चुकाने का कोई दूसरा विकल्प है, तो आपको उस पर विचार करना चाहिए।

पर्सनल लोन कब चुनें?

पर्सनल लोन अपेक्षाकृत कम ब्याज दरों पर मिलते हैं और इनकी चुकाने की अवधि भी लंबी होती है इसलिए, यदि आपको थोड़ी बड़ी राशि की आवश्यकता है और आप इसे लंबी अवधि में चुका सकते हैं, तो पर्सनल लोन लेना बेहतर विकल्प होगा।

यहां कुछ ऐसे उदाहरण दिए गए हैं, जिनमें आप पर्सनल लोन लेने पर विचार कर सकते हैं:

  • शादी या शिक्षा: यदि आपको शादी या शिक्षा के लिए पैसे की आवश्यकता है, तो आप पर्सनल लोन ले सकते हैं।
  • घर का नवीनीकरण: यदि आप अपने घर का नवीनीकरण करवाना चाहते हैं, तो आप पर्सनल लोन ले सकते हैं।
  • नया वाहन खरीदना: यदि आप नया वाहन खरीदना चाहते हैं, तो आप पर्सनल लोन ले सकते हैं।

निष्कर्षः

पेडे लोन और पर्सनल लोन दोनों ही आपकी वित्तीय जरूरतों को पूरा करने में मदद कर सकते हैं लेकिन, आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि दोनों ही ऋणों के अपने फायदे और नुकसान हैं। ऋण लेने से पहले, आपको अपनी वित्तीय स्थिति का ध्यानपूर्वक मूल्यांकन करना चाहिए और अपनी आवश्यकताओं के अनुसार ऋण का चुनाव करना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top