बैंक में कितना कैश रखना चाहिए?

आप मेहनत की कमाई को सुरक्षित रखना चाहते हैं, यह स्वाभाविक है और बैंक खाता पैसा रखने का एक लोकप्रिय और सुविधाजनक तरीका है लेकिन, सवाल उठता है कि आखिर बैंक में कितना कैश रखना चाहिए?

यह निर्णय लेने में कई सारे पहलू शामिल होते हैं आइए, इस ब्लॉग में विस्तार से जानते हैं कि आपको बैंक में कितना पैसा रखना चाहिए और अपने नकदी प्रबंधन (Cash Management) को कैसे बेहतर बना सकते हैं।

बैंक में नकदी रखने के फायदे

सुरक्षा: बैंक खाते में जमा पैसा ज्यादातर सुरक्षित होता है। भारत में, जमा राशि पर सरकारी बीमा निगम (Deposit Insurance and Credit Guarantee Corporation – DICGC) ₹5 लाख तक का बीमा देता है।

सुविधा: बैंक खाते से लेन-देन करना आसान होता है। आप डेबिट कार्ड, चेक, या ऑनलाइन ट्रांसफर के जरिए आसानी से भुगतान कर सकते हैं।

ब्याज: बचत खातों पर आपको जमा राशि पर थोड़ा ब्याज मिलता है।

बैंक में ज्यादा नकदी रखने के नुकसान

सीमित बीमा: जैसा कि बताया गया है, DICGC केवल ₹5 लाख तक का ही बीमा देता है अगर आपके खाते में इससे ज्यादा रकम है, तो बाकी रकम जोखिम में है।

महंगाई से हार: बैंक में रखे पैसे पर मिलने वाला ब्याज आमतौर पर महंगाई दर से कम होता है यानी,समय के साथ, आपकी मूल बचत क्षमता कम हो जाती है।

चोरी का जोखिम: हालांकि दुर्लभ, बैंक लॉकर चोरी जैसी घटनाएं भी हो सकती हैं।

आपको बैंक में कितना कैश रखना चाहिए?

यह सवाल का कोई सीधा जवाब नहीं है, क्योंकि यह आपकी व्यक्तिगत परिस्थितियों पर निर्भर करता है।

निम्नलिखित कारकों को ध्यान में रखें:

आपकी आय और खर्च: आपकी मासिक आय और खर्च का आकलन करें। आसानी से सुलभ होने के लिए कुछ महीनों के नियमित खर्च के बराबर राशि को बैंक में रख सकते हैं।

आपके वित्तीय लक्ष्य: अपने अल्पकालीन और दीर्घकालीन वित्तीय लक्ष्यों को ध्यान में रखें। उदाहरण के लिए, आपका लक्ष्य छुट्टियों पर जाना हो सकता है या घर खरीदना हो सकता है। इन लक्ष्यों के लिए जरूरी रकम को आप अलग से बैंक में रख सकते हैं।

आपकी जोखिम उठाने की क्षमता: आप कितना जोखिम उठा सकते हैं, यह भी निर्धारित करता है कि आप कितना पैसा बैंक में रखेंगे। कम जोखिम लेने वाले लोग अधिकांश राशि को बैंक में रखना पसंद करते हैं, जबकि जोखिम उठाने वाले लोग कुछ राशि को निवेश में लगाना पसंद करते हैं।

आपके लिए एक राह दिखाने के लिए, निम्न उदाहरण देखें:

मान लीजिए, आपकी मासिक आय ₹50,000 है और आपका मासिक खर्च ₹30,000 है।

  • आप अपने बैंक खाते में 3 महीने के खर्च के बराबर राशि, यानी ₹90,000 रख सकते हैं।
  • आप अपने किसी अल्पकालीन लक्ष्य के लिए, उदाहरण के लिए छुट्टियों पर जाने के लिए, अलग से ₹50,000 रख सकते हैं।
  • कुछ राशि को आप अपने जोखिम उठाने की क्षमता के अनुसार निवेश में लगा सकते हैं।

निष्कर्ष:

बैंक खाता आपके नकदी प्रबंधन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है लेकिन, यह आपकी पूरी बचत को रखने का इकलौता तरीका नहीं है। अपनी व्यक्तिगत परिस्थितियों और वित्तीय लक्ष्यों के आधार पर आपको यह निर्णय लेना चाहिए कि आपको बैंक में कितना कैश रखना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top